Monday, July 4, 2022


Proof of effects of Geomagnetic storm on living things : गुरुदेव वेधशाला को मिला प्रमाण : गुरुदेव वेधशाला ने 2/7/2022 की गोधूलि वेला में घोसले की और जा रहे पंछियों का अजब व्यवहार रिकॉर्ड किया था (देखे वीडियो https://youtu.be/JekMaq0LJKw ) उस समय भूचुंबकीय तूफान का एक अंदाजा लगाया गया था। अब उपग्रहों के डाटा से वह सत्य हो रहा है। पहली जुलाई को निकले CME ने पृथ्वी के चुम्बकीय क्षेत्र को झकझोर दिया था जिसकी वजह से दो और चार जुलाई को G1 स्टॉर्म पृथ्वी पर उत्पन्न हुए। अब लग रहा है की इसकी वजह से ही पंछियो का स्ट्रेंज बेहेवियर दिखाई दिया था। यह सूर्य ,सौर पवन ,प्लाज्मा ,चुंबकीय क्षेत्र इत्यादि की जिव सृस्टि पर पड़ने वाली सीधी असर का एक असरदार प्रमाण है। इसे हम आज नासा समेत सभी स्पेस एजेंसिस और विश्व के मूर्धन्य वैज्ञानिको को भेज रहे है।  


 

Saturday, July 2, 2022

Strange flying of birds : क्या होने वाला है? पंछी उल्टी दिशा में क्यों जा रहे है ? क्या वजह है ? https://youtu.be/JekMaq0LJKw

 Earth at Aphelion  पुत्री होगी अपने पिता से दूर।  

जैसा की हम जानते है पृथ्वी अपनी "ओवल" अर्थात अंडाकार भ्रमण कक्षा में सूर्य की प्रदक्षिणा करती रहती है। जिसके कारण आगामी 4 जुलाई 2022 को दोपहर 12:40 पर वे सूर्य से सबसे दूर के बिंदु पर पहुंचेगी। उस समय पुत्री अपने पिता से 15 करोड़ 20 लाख किमी दूर होगी। अर्थात औसतन से 20 लाख और सबसे नजदीकी बिंदु से 50 लाख किमी दूर होगी।फिर भी हमारे यहाँ अभी भी गरमी होगी। सोचो ऐसा क्यों? अद्भुत है ना ब्रह्माण्ड !!!   http://www.gurudevobservatory.co.in/

http://www.gurudevobservatory.co.in/

Wednesday, June 29, 2022

विज्ञान का अद्यतन अविष्कार बता रहा है की मानव पृथ्वी के चुम्बकीय क्षेत्र को और उसमे आये बदलाव को देख/समज सकता है। मानव के रेटिना का एक प्रोटीन व कुछ सेल्स इनके लिए जिम्मेदार है। इसका मतलब है की सूर्य साधना की मदद से सूर्य के प्रत्येक चुंबकीय बदलाव के कारण पृथ्वी के मेग्नेटिक फिल्ड में होने वाले परिवर्तन को देखा जा सकता है। जिससे व्यक्ति सहज ही भविष्यदृष्टा हो जाता है । और गुरुदेव वेधशाला की मान्यता तो यह भी है की सामूहिक साधना से इस मेग्नेटिक फिल्ड को बदला भी जा सकता है।  http://www.gurudevobservatory.co.in/

Best wishes for "World Asteroid Day " : पृथ्वी और उनके जीवन के लिए लिए सदैव खतरनाक रहे लघुग्रह के ऊपर जनचेतना जगाने ,लघुग्रह से बचने के मार्ग खोजने के लिए पूरा विश्व आज एकजुट होकर "वर्ल्ड ऐस्टरॉइड डे " - " विश्व क्षुद्रग्रह दिवस "मना रहा है। आशा रखे की इसकी फलदायी उपलब्धियां जल्दी ही सामने आये। Image credit : ESAhttps://youtu.be/W1Tcg7tzsZY

How many sun are there ? कितने सूर्य है ?सूर्यास्त के समय दो अथवा अधिक सूर्य दिखाई देते है । प्रस्तुत है गुरुदेव वेधशाला से उसकी एक झलक ।https://youtu.be/DO2Dg5taP0U