Tuesday, June 19, 2018

A very happy summer solstice. पृथ्वी के 23.5 अंश झुकाव के चलते सूर्यनारायण 21 जून को दोपहर 3:37 पर अपने महत्तम बिंदु कर्कवृत्त पर पहुंचेंगे l जिसके चलते  हम उत्तर गोलार्ध में सबसे लंबा दिन अनुभव करेंगे l अब सूर्य दक्षिण की ओर चलना शुरू करेंगे, जिसके चलते अब हमारे यहां रात्रि लंबी होती हुई चली जाएंगी  l वर्तमान में आप सबने अनुभव किया होगा कि सूर्यास्त और सूर्योदय काफी लंबे समय तक होते हुए दिखाई देते हैं lआप सबको दक्षिणायन की पुरोहित परिवार की ओर से हार्दिक मंगलकामनाएं l दिव्यदर्शन पुरोहित, गायत्री प्रज्ञापीठ, गुरुदेव ऑब्जर्वेटरी,करेलीबाग, बड़ोदराl Image credit: NASA, ESA& Others



Saturday, June 16, 2018

Only 2.5 degree daylight conjunction of Venus & Crescent Moon. केवल 2:30 डिग्री की सूर्यास्त के पूर्ण उजाले में मैं भी खुली आंखों से दृष्टिगत हो रही शुक्र और चंद्र की अद्भुत युति l दिव्यदर्शन पुरोहित ,गुरुदेव ऑब्जर्वेटरी ,गायत्री प्रज्ञापीठ, वड़ोदरा l



According to the study, ice losses from Antarctica are causing sea levels to rise faster today than at any time in the past 25 years. It rises 0.6 mm per year. This the time to do for our mother Earth. मेरे मास्टर श्रीराम शर्मा आचार्य जी ने 40 के दशक में बताई बातें सत्य हो रही हैं l वर्तमान की उपग्रहीय खोज बता रही है कि 1992 से अंटार्टिका की हिम शिलाएं एक समान स्थिर रूप से पिघल रही थी और प्रतिवर्ष 80 बिलियन बर्फ समुद्र में जा रहा था l जिसके चलते समुद्र की सतह प्रतिवर्ष 0.2 MM बढ़ रही थी l मगर मानवीय करतूतो से उपजे ग्लोबल वार्मिंग ने समुद्र को भी इतना गर्म कर दिया है कि 2012 से यह 3 गुना ज्यादा ,220 बिलियन टन प्रति वर्ष के हिसाब से पिघल रही है l जिसके चलते अब 0.6 MM प्रतिवर्ष की गति से समंदर ऊपर उठता चला जा रहा है l समुद्र के किनारों पर विश्व की बहुत ज्यादा पॉपुलेशन चल रही है ,न जाने आने वाले वर्षों में उनका क्या होगा lअब माता प्रकृति और क्या क्रोध करेगी ?यही समय है कुछ कर गुजरने का l अभी या कभी नहीं lकरें या मरे lआओ माता प्रकृति को शांत शीतल और स्थिर होने की प्रार्थना करें l दिव्यदर्शन पुरोहित ,गुरुदेव ऑब्जर्वेटरी, गायत्री प्रज्ञापीठ ,कारेली बाग ,वडोदरा l image credit: ESA

Friday, June 15, 2018

Day time Venus & crescent moon.  गुरुदेव ऑब्जर्वेटरी से सूर्यास्त के समय संध्या के प्रकाश में दृश्यमान ,ऊपर पश्चिमी आकाश का सबसे तेजस्वी शुक्र ग्रह तथा उसकी दाई और नीचे दूज का चंद्रमा l यह दोनों अत्यधिक तेजस्वी है इसीलिए जाले में भी दिखाई दिए l प्रतिपदा के चंद्र को देखना सभी के लिए संभव नहीं मगर दूज का चंद्र देखने से चंद्रमास कि जैसे शुरुआत हो जाती है lप्रकृति के इस अद्भुत नजारे को देखकर उस परमपिता को थैंक्स करना ना भूलें l दिव्यदर्शन पुरोहित  ,गुरुदेव ऑब्जर्वेटरी ,गायत्री प्रज्ञापीठ, वडोदरा l




Thursday, June 14, 2018

GURUDEV OBSERVATORY Vidhyarambh Sanskar


A sacred ceremony "Vidhyarambh Sanskar" had been carryout by Gurudev Observatory,Shri Gayatri Pragypiith,Karelibag,Vaoddara,India to develop virtues in students,parents & teachers at Jivan Bharati School for more than 700 primary students.